Kerala Congress President Rahul Gandhi files nomination Wayanad

केरल की वायनाड सीट से राहुल गांधी ने किया नामांकन तो स्मृति ईरानी बोली

वायनाड से नामांकन दाखिल करने के बाद कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा- मुझे पता है कि वायनाड से चुनाव लड़ने को लेकर सीपीएम के नेता मुझसे नाराज हैं और लगातार मेरे खिलाफ हमला बोल रहे हैं।

लेकिन मैं पूरे चुनाव प्रचार के दौरान उनके खिलाफ एक शब्‍द भी नहीं बोलूंगा। राहुल गांधी ने कहा- मैं केरल इसलिए आया हूं, ताकि मैं संदेश दे सकूं कि पूरा देश एक है, चाहे वो उत्‍तर हो, दक्षिण हो पूरब हो या पश्‍चिम। मैं पूरे देश को संदेश देना चाहता हूं मेरा उद्देश्‍य है कि मैं दक्षिण भारत के लोगों को संदेश दे सकूं। मोदी जी और आरएसएस देश की संस्‍कृति, सभ्‍यता और भाषा पर हमला बोल रहे हैं। खासकर दक्षिण भारत की संस्‍कृति को वो खासा नुकसान पहुंचा रहे हैं।

राहुल गांधी ने कहा- जिस प्रकार की भाषा का इस्‍तेमाल बीजेपी नेता कर रहे हैं, उससे देश की एकता और अखंडता प्रभावित हो रही है। रोजगार के मुद्दे पर मोदी सरकार नाकाम रही है। रोजगार खत्‍म हो रहे हैं, नौकरियां खत्‍म हो रही हैं, लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी केवल अनिल अंबानी की मदद कर रहे हैं, अनिल अंबानी के जेब में 30 हजार करोड़ रुपये जा चुके हैं और पीएम मोदी चुप हैं, उन्‍हीं की मदद से ये सब हुआ।

राहुल गांधी ने नामांकन दाखिल करने के बाद कहा- देश की एकता पर बीजेपी और मोदी सरकार हमला बोल रही है। जिस प्रकार सरकार काम कर रही है, उससे देश की संस्‍कृति को नुकसान हो रहा है।

तो वही केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर गुरुवार को केरल के वायनाड से नामांकन पत्र भरने को लेकर निशाना साधते हुए कहा कि यह अमेठी की जनता का अपमान और उनके साथ धोखा है।

स्मृति ने पत्रकारों से कहा कि जो व्यक्ति पिछले 15 साल से अमेठी में है, उसने अपने समर्थकों को छोड़ना तय कर लिया और किसी अन्य निर्वाचन क्षेत्र से नामांकन पत्र भरने का फैसला किया क्योंकि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पता है कि राहुल को अमेठी में समर्थन नहीं है। उन्होंने कहा, ”वह किसी और लोकसभा क्षेत्र में अपना पर्चा भरने जा रहे हैं, यह अमेठी का अपमान, अमेठी से धोखा है और अमेठी की जनता यह बर्दाश्त नहीं करेगी।

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरूवार को केरल के वायनाड लोकसभा सीट से नामांकन दाखिल किया है। उनके साथ बहन प्रियंका गांधी वाड्रा भी मौजूद थी। उसके बाद राहुल ने वहां पर करीब दो किलोमीटर का मेगा रोड शो किया। इसके साथ ही, राहुल गांधी उत्तर प्रदेश के अमेठी से भी चुनाव लड़ रहे हैं। राहुल गांधी के वायनाड सीट से लड़ने के फैसले को दक्षिण राज्यों में कांग्रेस की स्थिति मजबूत करने के प्रयासों के तौर पर भी देखा जा रहा है।

Related posts

गृह मंत्रालय ने राहुल गांधी से ब्रिटिश नागरिकता पर मांगा जवाब, कांग्रेस ने बताया जन्मजात भारतीय

admin

गोवा में देर रात बदली सियासी तस्वीर,  MGP के दो विधायक हुए BJP में शामिल

admin

बिहार में NDA की सीटों का हुआ ऐलान, जानिए कौन कहां से लड़ेगा चुनाव

admin

लखनऊ में शत्रुघ्न सिन्हा ने किया पत्नी का प्रचार, तो भड़के कांग्रेस उम्मीदवार बोले

admin

प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार अयोध्या जाएंगे PM मोदी, चुनावी रैली को करेंगे संबोधित

admin

राहुल की ‘न्याय’ स्कीम पर मोदी का वार- “जो 70 साल तक खाता नहीं खुलवा सके, वो पैसे की बात कर रहे हैं”

admin