किस स्थान से बने अब तक तीन मुख्यमंत्री

किस स्थान से बने अब तक तीन मुख्यमंत्री

इत्रनगरी कन्नौज संसदीय सीट के हिस्से में अनोखी उपलब्धि है। यहां से चुनकर तीन सांसद अलग-अलग समय अलग-अलग प्रदेशों के मुख्यमंत्री की कुर्सी भी हासिल कर चुके हैं। मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव ने यूपी के मुख्यमंत्री बनने का गौरव हासिल किया तो शीला दीक्षित ने दिल्ली के मुख्यमंत्री का ताज पहना।

मुलायम और शीला इस संसदीय सीट से एक-एक बार सांसद बन चुके हैं, जबकि अखिलेश ने लोकसभा चुनाव में कामयाबी की हैट्रिक लगाकर सांसद रहते हुए ही मुख्यमंत्री की कुर्सी हासिल की थी। मुलायम कन्नौज संसदीय सीट से पहली बार 1999 में सांसद निर्वाचित हुए तो वह दो बार मुख्यमंत्री बन चुके थे। तीसरी बार सीएम बनने से पहले वह कन्नौज से सांसद निर्वाचित हो चुके थे। शीला दीक्षित और अखिलेश ने अपने सियासी सफर की शुरुआत ही कन्नौज से की थी। शीला दीक्षित पहली बार 1984 में यहां से सांसद बनी थीं। अगला चुनाव हारने के बाद वह दिल्ली की सियासत का अहम चेहरा बनीं और बाद में लगातार तीन बार देश की राजधानी की मुख्यमंत्री की कुर्सी पर काबिज रहीं। अखिलेश ने सियासत की दुनिया में कदम रखने के लिए साल 2000 के लोकसभा उपचुनाव में किस्मत आजमाई और लगातार तीन बार सांसद बने।

कन्नौज जिले की तीसरी सीट तिर्वा कस्बे के अलावा कढ़ेरा कनौली, कन्सुआ, कपूरपुर उमेद, ककरधारा में लोग सियासी बातों पर खुलकर बोलते हैं। तिर्वा कस्बे के नारायन यादव कहते हैं कि इस क्षेत्र में अति पिछड़े मतदाताओं की तादाद बहुत अधिक है, सपा को इसके हिसाब से प्रत्याशी तय करना चाहिए था। वह आंकड़ों के साथ बताते हैं कि वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में विजय बहादुर पाल को 78 हजार से अधिक वोट मिले थे, जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी बसपा के कैलाश सिंह राजपूत को 45899 वोटों से संतोष करना पड़ा था। भाजपा के आलोक वर्मा तीसरे नंबर पर थे, मगर इस बार हवा बदली हुई है। यहां लोग कहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरसरायगंज में जिस अंदाज में समाजवादी परिवार पर हमला किया, उससे समीकरणों में बदलाव आया है। फिजां भी बदली है। जो नया गुल भी खिला सकती है। कौन हारेगा-कौन जीतेगा यह तो 11 मार्च को पता चलेगा, इसमें कोई शक नहीं है कि इस बार समाजवादी दुर्ग में चुनावी मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है।

Related posts

हाफ शर्ट, सैंडल और स्कूटर की सवारी…. वाकई बिरले थे मनोहर पर्रिकर

admin

कांग्रेस में राहुल के बाद प्रियंका गांधी आई लेकिन भगदड़ नहीं रोक पाई

admin

बज गया चुनावी बिगुल

admin

बिहार में NDA की सीटों का हुआ ऐलान, जानिए कौन कहां से लड़ेगा चुनाव

admin

क्या आप और कांग्रेस का गठजोड़ होगा संभव?

admin

कौन होगा अगला प्रधानमंत्री ?

admin