lok sabha election 2019 will quit politics if rahul gandhi lost in amethi says navjot singh sidhu

राहुल गांधी अमेठी से हारे, तो राजनीति से लूंगा सन्यास : नवजोत सिंह सिद्धू

पंजाब सरकार में मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा है कि राहुल गांधी अगर अमेठी लोकसभा सीट से चुनाव हारते हैं तो वे राजनीति से सन्यास ले लेंगे। सिद्धू ने उत्तर प्रदेश की रायबरेली लोकसभा सीट पर यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी के लिए प्रचार के दौरान यह बयान दिया है।

पूर्व क्रिकेटर ने रिफॉर्म क्लब मैदान में एक जनसभा को संबोधित करते हुए क्रिकेट की भाषा में कहा, अगर सोनिया गांधी को दो लाख के अंतर से जिताया तो यह दुक्की की तरह की शॉट होगी और चार लाख के मार्जिन से जीत चौका होगा लेकिन पांच लाख से अधिक की जीत सीधा छक्का होगा और रायबरेली की जनता को यह शॉट जरूर खेलना है।

सिद्धू ने कहा कि लोगों को अगर राष्ट्रवाद सीखना है तो यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी से सीखना चाहिए। सिद्धू ने सोनिया गांधी की सराहना करते हुए कहा कि राजीव गांधी की मौत के बाद कांग्रेस का नेतृत्व करना एक साहसिक कदम है और कांग्रेस का केंद्र में 10 साल (2004-2014) तक सत्ता बरकरार रखना उनके नेतृत्व की वजह से मुमकिन हुआ था।

कांग्रेस के 70 साल के राज में कोई काम नहीं होने के भारतीय जनता पार्टी के नारे पर सवाल उठाते हुए कहा कि कांग्रेस राज में देश में सबकुछ बनता था, सूई से लेकर जहाज तक देश में ही बनते थे। भारतीय जनता पार्टी पर तंज कसते हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि जब तक वे पार्टी का हिस्सा थे उन्हे राष्ट्रवादी माना जाता था परन्तु इसे छोड़ने के बाद उन्हें राष्ट्र विरोधी करार दिया गया है। साथ ही उन्होंने कहा कि राफेल सौदे के विवाद से आम चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हार तय है।

बीजेपी प्रत्याशी दिनेश प्रताप सिंह को निशाने पर लेते हुए कहा, यह जब सोनिया गांधी का नहीं हुआ तो रायबरेली की जनता का क्या होगा। सिद्धू झूठ नहीं बोलता और बीजेपी का काम झूठ और तानाशाही है। बात करोड़ों की, दुकान पकौड़ों की और संगत भगोड़ों की। सोनिया गांधी की तारीफ करते हुए कहा कि ये सोनिया गांधी थी जिन्होंने दस साल खुद पीछे रही और काबिल लोगों को लेकर आईं। देश तरक्की की कगार पर आकर खड़ा हुआ।

आपको बता दें कि सिद्धू ने 2004 और 2014 में भारतीय जनता पार्टी की ओर से अमृतसर से लोकसभा चुनाव जीता था और 2017 में वह कांग्रेस में शामिल हो गए और उन्हें अमृतसर से पंजाब विधानसभा के लिए चुना गया है। गौरतलब है कि 7 चरणों में होने वाले मतदान के लिए सोमवार 29 अप्रैल को चौथे चरण के मतदान हो रहा है। अमेठी लोकसभा सीट पर 6 मई को 5वें चरण में मतदान होने हैं।

 

 

 

 

Related posts

नवरात्रि में कांग्रेस ज्वाइन करेंगे शत्रुघ्न सिन्हा, पटना साहिब से लड़ने चुनाव

admin

मुंबई में पीएम मोदी की रैली में पहुंचे उद्योगपति मुकेश अंबानी के बेटे अनंत अंबानी

admin

बीजेपी मुख्यालय में प्रेस कांफ्रेंस के दौरान जीवीएल नरसिम्हा राव पर फेंका जूता गया

admin

किस स्थान से बने अब तक तीन मुख्यमंत्री

admin

गौतम गंभीर उतरेंगे चुनाव के मैदान में !

admin

स्मृति ईरानी की डिग्री पर कांग्रेस ने गाना गाकर कसा तंज-‘…क्योंकि मंत्री भी कभी ग्रेजुएट थीं’

admin