lok sabha election gautam gambhir challenge to arvind kejriwal over obscene pamphlets issue

गंभीर की केजरीवाल को चुनौती, आरोप साबित हुआ तो मैं सरेआम फांसी लगा लूंगा

दिल्ली में छटवें चरण के लिए 12 मई को मतदान होना है। इससे पहले पूर्वी दिल्ली से आम आदमी पार्टी उम्मीदवार आतिशी मार्लेना से जुड़े अभद्र पर्चा विवाद में राजनीतिक छींटाकशी तेज हो गई है। बीजेपी उम्मीदवार गौतम गंभीर ने अब नई चुनौती सामने रख दी है। उन्होंने आम आदमी पार्टी को चुनौती दी है कि अगर पार्टी यह साबित कर दे कि पर्चे उन्होंने बंटवाए हैं तो मैं जनता के सामने फांसी पर लटक जाऊंगा।

गौतम गंभीर ने ट्विटर पर आम आदमी पार्टी और सीएम अरविंद केजरीवाल को टैग करते हुए कहा कि अगर वह यह साबित कर दें कि पर्चा बंटवाने के मामले से उनका कोई लेना-देना है, तो जनता के सामने वह फांसी लगा लेंगे और अगर वह यह साबित नहीं कर पाते तो अरविंद केजरीवाल को राजनीति छोड़ने होगी, स्वीकार है?

गौरतलब है कल पूर्वी दिल्ली से आप उम्मीदवार आतिशी ने गौतम गंभीर पर अपमानित करने वाले पर्चे बंटवाने का आरोप लगाया था। इस दौरान आतिशी प्रेस कॉन्फ्रेंस में रो पड़ीं. आतिशी ने कहा, ”गौतम गंभीर मुझ जैसी मजबूत महिला को हराने के लिए इतना नीचे जा सकते हैं, तो एक सांसद के रूप में वह महिलाओं की सुरक्षा कैसे सुनिश्चित कर सकते हैं। ”आतिशी ने मीडिया के सामने वो पर्चे भी जारी किए, जिनमें कथित तौर पर आतिशी के खिलाप अपमानजनक बातें लिखी हैं। आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया कि गंभीर ने इन पर्चों को अखबारों के जरिए घर घर पहुंचाया।

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि पंफलेट को पढ़ते हुए कहा हमें शर्म आ रही है। जब गौतम गंभीर देश के लिए खेलते हुए चौके और छक्के मारते थे, तब हम तालियां बजाते थे लेकिन हमने कभी सपने में नहीं सोचा था कि यह आदमी चुनाव जीतने के लिए इस स्तर तक जा सकता है। वहीं पार्टी प्रत्याशी आतिशी ने कहा- ‘मेरा गंभीर जी से बस एक यही सवाल है के अगर वो मेरे जैसी एक सशक्त महिला को हराने के लिए इतना गिर सकते तो सांसद बनने के बाद वो अपने क्षेत्र की महिलाओं को कैसे सुरक्षित करेंगे।’

आपको बता दें कि इससे पहले आतिशी मार्लेना ने दिल्ली महिला आयोग में इस मामले की शिकायत दर्ज कराई है और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बीजेपी के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा- ‘चोरी और सीनाज़ोरी? इस घिनोनी हरकत के लिए तुम्हें माफ़ी मांगनी चाहिए थी और defamation की धमकी दे रहे हो? उलटा चोर कोतवाल को डांटे? Defamation हम करेंगे- तेरी हिम्मत कैसे हुई ये पर्चा बांटने की और बेशर्मी से उसका झूठा इल्ज़ाम CM पर लगाने की ?’

उधर, गंभीर को क्रिकेटर हरभजन सिंह और वीवीएस लक्ष्मण का समर्थन मिल रहा है। हरभजन ने ट्वीट कर कहा कि गंभीर जीतें या न जीतें, यह अलग बात है लेकिन वह किसी महिला के बारे में गलत शब्द नहीं बोल सकते। वहीं वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि वो गौतम गंभीर को दो दशकों से जानते हैं और वे उनकी ईमानदारी, चरित्र और महिलाओं के लिए उनकी इज्जत पर गारंटी दे सकते हैं।

Related posts

राजस्थान के कनिष्क कटारिया बने UPSC टॉपर,  महिलाओं में सृष्टि जयंत देशमुख अव्वल

admin

रोहतक में नवजोत सिंह सिद्धू के मंच पर फेंकी गई चप्पल

admin

कांग्रेस ने 27 उम्मीदवारों की चौथी लिस्ट जारी की, तिरुवनंतपुरम से शशि थरूर को मिला टिकट

admin

हार्दिक के चुनाव लड़ने पर संशय

admin

राहुल की ‘न्याय’ स्कीम पर मोदी का वार- “जो 70 साल तक खाता नहीं खुलवा सके, वो पैसे की बात कर रहे हैं”

admin

कौन होगा अगला प्रधानमंत्री ?

admin