main bhi chowkidar campaign tattoo

पीएम मोदी से प्रभावित टैटू आर्टिस्ट मुफ्त में बना रहा है #MainBhiChowkidar का टैटू

प्रधानमंत्री मोदी ने सोशल मीडिया पर ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान शुरू किया। इसके बाद से सोशल मीडिया पर अपने नाम के आगे चौकीदार लिखने का ट्रेंड चल पड़ा है। इस कैंपेन के समर्थन में युवा ना सिर्फ सोशल मीडिया पर नाम के पहले चौकीदार लगा रहे हैं बल्कि अपने हाथों पर मैं भी चौकीदार का टैटू भी बनवा रहे हैं।

2014 लोकसभा चुनाव में ‘चायवाला’ शब्द लोकप्रिय था तो 2019 में ‘चौकीदार’ शब्द लोकप्रिय है। पीएम नरेंद्र मोदी ने अब देश के 500 स्थानों पर विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ‘मैं भी चौकीदार’ कैंपेन करने का फैसला लिया है तो वहीं बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने आज ‘मैं भी चौकीदार हूं’ को लेकर विरोधियों पर हमला बोला और कैंपेन से जुड़े कुछ आंकड़े पेश किये।

इस कैंपन का सबसे ज्यादा क्रेज युवाओं में देखने को मिला। युवा पीएम मोदी के #Mainbhichowkidar कैंपेन को सपोर्ट करने के लिए ना सिर्फ सोशल मीडिया पर नाम के पहले चौकीदार लगा रहे हैं बल्कि मैं भी चौकीदार को अपने हाथों पर भी टैटू भी बनवा रहे हैं। अब तक कई युवाओं ने अपने इसका टैटू बनवाकर समर्थन में सामने आएं हैं। भोपाल में बीजेपी के कैम्पेन से प्रभावित होकर एक टैटू आर्टिस्ट मुफ्त में ही टैटू बना रहा है।

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि आज मैं भी चौकीदार हूं एक जन आंदोलन बन गया है। उन्होंने बताया कि एक करोड़ लोगों ने ऑनलाइन इस मुहिम से जुड़ने की शपथ ली है। इसके साथ ही 31 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से 500 जगहों पर इस अभियान से जुड़ने वाले लोगों से बात करेंगे।

रविशंकर प्रसाद ने बताया कि 20 लाख लोगों ने इस मुहिम से जुड़कर ट्वीट किया। इसके इंप्रेशन थे 1600 करोड़ से ज्यादा था। इसके साथ ही एक करोड़ लोगों ने ऑनलाइन मैं भी भी चौकीदार हूं अभियान से जुड़ने की शपथ ली और इसका वीडियो भी एक करोड़ लोगों ने देखा। वर्ल्ड वाइड ट्रेंड की बात करें तो ये पूरे दिन नंबर वन ट्रेंड रहा। वहीं भारत में लगातार दो दिन नंबर वन ट्रेंड में शामिल रहा।

रविशंकर प्रसाद ने कहा, ’31 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से देश के 500 जगहों से अलग अलग तरह के चौकीदारों से बात करेंगे, ये वो लोग हैं जिन्होंने मैं भी चौकीदार हूं अभियान से जुड़ने की शपथ ली है। इसमें कार्यकर्ता , एनडीए के लीडर, प्रोफेशनल, किसान, स्वच्छता कर्मचारी, रिटार्यड सैनिक, युवा और बहनें शामिल होंगी। प्रधानमंत्री संभवता दिल्ली से नहीं बल्कि देश में किसी अन्य जगह से इस कार्यक्रम में शामिल होंगे।’

 

Related posts

नवरात्रि में कांग्रेस ज्वाइन करेंगे शत्रुघ्न सिन्हा, पटना साहिब से लड़ने चुनाव

admin

पद्म पुरस्कार : जब प्रोटोकॉल तोड़ ‘वृक्ष माता’ तिम्मक्का ने राष्ट्रपति कोविंद को दिया आशीर्वाद 

admin

काँग्रेसी नेता की हत्या के बाद बसपा विधायक के खिलाफ एफआईआर

admin

किस स्थान से बने अब तक तीन मुख्यमंत्री

admin

क्या आप और कांग्रेस का गठजोड़ होगा संभव?

admin

कांग्रेस के घोषणापत्र में राहुल गांधी की हुंकार- ‘गरीबी पर वार, 72 हजार’

admin