pm modi biopic and now election commission banned narendra modi web series

चुनाव आयोग ने पीएम मोदी की बायोपिक के बाद अब वेब सीरीज को किया बैन

रिलीज से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक को बैन किए जाने के बाद अब चुनाव आयोग ने नरेंद्र मोदी के जीवन पर आधारित वेब सीरीज Modi-Journey of a Common Man को भी बैन कर दिया है। चुनाव आयोग ने इरोज नाऊ को आदेश दिया कि वह इस वेब सीरीज के सभी एपिसोड्स की स्ट्रीमिंग अपने सभी मीडियम पर बंद कर दे।

चुनाव आयोग ने अपने एक आदेश में कहा, ‘हमारे संज्ञान में आया है कि ‘मोदी-जर्नी ऑफ अ कॉमन मैन’ के पांच एपिसोड आपके प्लैटफॉर्म पर उपलब्ध हैं। आपको अगले आदेश तक इसके ऑनलाइन स्ट्रीमिंग को रोकने और इससे संबंधित सभी सामग्री को हटाने के निर्देश दिए जाते हैं।’

पीएम मोदी पर बनी वेब सीरीज – ‘मोदी: जर्नी ऑफ ए कॉमन मैन’ बनाने वाले उमेश शुक्ला ने बनाया है. इसे मिह‍िर भूटा ने लिखा है। फिल्म में पीएम नरेंद्र मोदी के अब तक के जीवन के तीन फेज को द‍िखाया गया है। ज‍िसे फैजल खान, आशीष शर्मा और महेश ठाकुर ने न‍िभाया है।

बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक फिल्म “पीएम नरेंद्र मोदी” को चुनाव आयोग ने रिलीज से ठीक एक दिन पहले बैन कर दिया था। फिल्म 12 अप्रैल को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही थी। ओमंग कुमार निर्देशित इस फिल्म पर आरोप था कि यह आचार संहिता का उल्लंघन करती है। फिल्म को बैन किए जाने के बाद आज चुनाव आयोग की गाज मोदी की बायोपिक पर गिरी है। इतना ही नहीं, आयोग ने बीजेपी के नमो टीवी को लेकर भी कार्रवाई की है। आयोग ने स्पष्ट किया है कि मतदान से 48 घंटे पहले चुनाव प्रचार थमने के दौरान नमो टीवी पर चुनाव संबंधी कार्यक्रम प्रसारित नहीं किए जा सकेंगे।

निर्वाचन आयोग ने पीएम नरेंद्र मोदी बायोपिक के साथ ऐसी किसी भी राजनीतिक फिल्म की रिलीज पर रोक लगाई है। ऐसी फ़िल्में जो चुनाव पर असर डाल सकती हैं। हालांकि पीएम मोदी बायोपिक का मामला इलेक्शन कमीशन के पास अटका हुआ है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि आयोग फिल्म को लेकर 19 अप्रैल तक सीलबंद लिफाफे में रिपोर्ट सौंपे। लेकिन कोर्ट में गुड फ्राइडे की छुट्टी होने के कारण निर्वाचन आयोग मोदी बायोपिक को लेकर अपनी सीलबंद रिपोर्ट दाखिल नहीं कर पाया। अब 22 अप्रैल यानी सोमवार को कोर्ट इस मामले में सुनवाई करेगा।

इससे पहले माकपा सहित अन्य विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग से शिकायत कर कहा था कि मोदी पर आधारित बायोपिक को चुनाव के दौरान प्रदर्शित करने का मकसद भाजपा को चुनावी फायदा पहुंचाना है। इसलिये चुनाव के दौरान इसके प्रदर्शन की अनुमति देने से चुनाव आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन होगा।

Related posts

अमेठी के अलावा केरल की वायनाड सीट से भी लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी 

admin

राहुल गांधी अमेठी से हारे, तो राजनीति से लूंगा सन्यास : नवजोत सिंह सिद्धू

admin

राहुल गांधी ने अमेठी से भरा नामांकन, सोनिया, प्रियंका और जीजा रॉबर्ट वाड्रा रहे मौजूद

admin

जानिए क्या है आचार संहिता ?

admin

जानें, कौन हैं 28 साल के तेजस्वी सूर्या जिन्हें बीजेपी ने इस हॉट सीट से बनाया उम्मीदवार

admin

कांग्रेस ने बीजेपी के ‘संकल्प पत्र’ को बताया ‘झांसा पत्र’

admin